कोरोना को हराने में गुरुग्राम अव्वल

0
230
Corona in Gurugram

14 राज्यों की राजधानियों, 4 केन्द्र शासित प्रदेश को पछाड़ा

  • राष्ट्रीय औसत से कहीं आगे 99.44% पहुंचा रिकवरी रेट

गुरुग्राम(सच कहूँ/संजय मेहरा)। जिस तरह से गुरुग्राम ने कोरोना की लहर के बीच टेस्टिंग और फिर टीकाकरण में कड़ी मेहनत की है। उसका परिणाम यह निकला है कि आज कोरोना से ठीक होने वालों में देश की राष्ट्रीय औसत 97.1 प्रतिशत की तुलना में गुरुग्राम बेहतर स्थिति में है। साथ ही 14 राज्यों की राजधानियों, 4 केन्द्र शासित प्रदेशों की तुलना में गुरुग्राम का कोरोना से रिकवरी अनुपात सबसे अच्छा रहा है। कोरोना की दूसरी लहर की धीमी होती रफ्तार के बीच गुरुग्राम के लिए यह राहतभरी खबर है।

देश के 14 बड़े राज्यों की राजधानियां आंध्र प्रदेश की राजधानी विशाखापट्टनम, बिहार की पटना, छत्तीसगढ़ की रायपुर, गुजरात की गांधीनगर, हिमाचल की शिमला, झारखंड की रांची, कर्नाटक की बेंगलुरु, केरल की तिरुवंतपुरम, मध्यप्रदेश की भोपाल, महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई, राजस्थान की जयपुर, तमिलनाडु की चेन्नई, उत्तर प्रदेश की लखनऊ व पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता की तुलना में जिला गुरुग्राम सरकार के कोविड19 पोर्टल के अनुसार 6 जुलाई 2021 तक रिकवरी रेट 99.44 प्रतिशत के साथ जिला गुरुग्राम प्रथम स्थान कायम पर है।

भोपाल 99.13 प्रतिशत के साथ दूसरे व जयपुर 98.33 प्रतिशत के साथ तीसरे स्थान पर काबिज है। देश के चार मुख्य केन्द्र शासित प्रदेश (यूनियन टैरेट्री-यूटी) की तुलना में भी गुरुग्राम काफी ऊपर है। चार यूटी दिल्ली का रिकवरी रेट 98.19, चंडीगढ़ 98.5, पॉन्डिचेरी 96.92 व अंडेमान निकोबार 98.08 प्रतिशत है। देश की राष्टीय औसत 97.1 की तुलना में भी गुरुग्राम का कोरोना रिकवरी रेट काफी अच्छी स्थिति में है। देश के अन्य बड़े शहरों की तुलना में भी जिला गुरुग्राम का रिकवरी रेट काफी बेहतर है।

विश्लेषण में राजधानी व केंद्र शासित प्रदेश शामिल

इस तुलनात्मक विश्लेषण में बड़े राज्यों की राजधानी व केन्द्र शासित प्रदेश के साथ किया गया है। आमतौर पर यह माना जाता है कि किसी भी राज्य की राजधानी में स्वास्थ्य सेवाएं व उसका ढांचा राज्य के अन्य बड़े शहरों की तुलना में काफी बेहतर व मजबूत स्थिति में होता है। इसके बावजूद गुरुग्राम इन राजधानियों व केन्द्र शासित प्रदेशों की तुलना में काफी बेहतर स्थिति में है।

कोरोना की दूसरी लहर में गुरुग्राम देश के अन्य बड़े शहरों की तरह सबसे अधिक प्रभावित होने वाले शहरों में से एक था। गुरुग्राम के उपायुक्त डॉ. यश गर्ग ने इसका श्रेय स्वास्थ्य विभाग की टीम के प्रत्येक व्यक्ति के साथ ही जिला के सभी जागरूक नागरिकों को दिया है। उन्होंने कहा कोरोना काल में इस महामारी को हराने के लिए कार्यरत प्रत्येक व्यक्ति ने एक टीम की तरह कार्य किया है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।