स्पीकर और डिप्टी स्पीकर सहित विधायकों की मौज, सैलरी के साथ मिल रहा मोटा बजट

0
114
haryana-vidhansabha sachkahoon

विधायकों को 1200 रू. किराये पर मिल रहे लग्जरी फ्लैट

  • बिजली-पानी खर्च भी है शामिल

  • स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष द्वारा मांगी गई आरटीआई में हुआ खुलासा

भिवानी (सच कहूँ/इन्द्रवेश)। जहां आम शहरों में दो कमरों के मकान के लिए लोग पांच से सात हजार रुपये खर्च कर रहे हैं। वहीं हरियाणा विधानसभा के विधायकों को चंडीगढ़ के सैक्टर-3 में एक हजार से 1200 रुपये में किराये पर लग्जरी फ्लैट दिए जा रहे हैं। इनमें खर्च होने वाली बिजली और पानी का बिल भी इसी किराया राशि में शामिल है। यह खुलासा आरटीआई में मांगी गई जानकारी में हुआ है। स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष बृजपाल सिंह परमार ने हरियाणा विधानसभा से जनसूचना अधिकार अधिनियम 2005 के तहत जानकारी मांगी थी। जिसका जवाब विधानसभा से मिला तो उसमें ये चौंकाने वाली बातें सामने आई।

एमएलए होस्टल में विधायक को 200 रुपये प्रति माह किराये पर फ्लैट मिल रहा है। जबकि मात्र 50 रुपये महीना में सर्वेंट क्वार्टर दिया जा रहा है। जबकि सेक्टर 3 में विधायकों को लग्जरी फ्लैट के लिए बिना गैराज एक हजार व गैराज सहित 1200 रुपये किराये पर दिया जा रहा है। बृजपाल सिंह परमार ने बताया कि कोरोना की वजह से हरियाणा में लोगों की आर्थिक हालत काफी खराब हुई हैं, मगर इसके बावजूद विधानसभा में विधायकों के खर्चे पर कोई कमी नहीं आई है।

विधानसभा में स्पीकर और डिप्टी स्पीकर के वेतन और खर्चे

विधानसभा के स्पीकर और डिप्टी स्पीकर को हर माह 60 हजार रुपये वेतन, स्पीकर व डिप्टी स्पीकर विधानसभा क्षेत्र के लिए 60 हजार प्रति माह भत्ता, टेलीफोन के लिए 15 हजार रुपये का बजट, ऑफिस खर्च 20 हजार रुपये प्रति माह, सत्कार भत्ता 25 हजार रुपये प्रति माह, डेली भत्ता 30 हजार प्रति माह, पीटी ग्रांट (छोटा अनुदान) 25 लाख रुपये, मुफ्त यात्रा भत्ता प्रति वर्ष तीन लाख रुपये, मोटर कार लोन 20 लाख रुपये, गृह ऋण 60 लाख रुपये, स्पीकार को सालाना ग्रांट सात करोड़ रुपये तथा डिप्टी स्पीकर को सालाना ग्रांट साढ़े 5 करोड़ रुपये मिलती है।

विधायकों के वेतन और खर्चें

विधायकों को प्रति माह वेतन 40 हजार रुपये, डेली भत्ता 30 हजार रुपये प्रति माह, विधानसभा क्षेत्र भत्ता 60 हजार रुपये, आफिस खर्च 25 हजार प्रति माह, सत्कार भत्ता 10 हजार रुपये प्रति माह, प्रत्येक सत्र में शामिल होने पर 15 हजार रुपये खर्च, टेलीफोन खर्च 15 हजार रुपये प्रति माह, हरियाणा से बाहर जाने पर पांच हजार रुपये प्रतिदिन, मेडिकल सुविधा ग्रुप-ए आफिसर की तर्ज पर मिल रही, 20 लाख मोटर कार लोन सुविधा, हाउस लोन 60 लाख की सुविधा, 10 लाख मकान रिपेयर की सुविधा, रेल एवं हवाई यात्रा प्रथम श्रेणी की सुविधा, 18 रुपये प्रति किलोमीटर सड़क यात्रा भत्ता, तीन लाख रुपये हर साल मुफ्त यात्रा भत्ता, छोटी ग्रांट 15 लाख रुपये सालाना, लेपटॉप की सुविधा मिलती है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।